परिचय:

  • साबूदाना खिचड़ी एक पौष्टिक भारतीय व्यंजन है जो व्रतों में और उपवास के दौरान बनाया जाता है। यह एक लाइट और स्वादिष्ट विकल्प होता है जिसमें साबूदाना और आलू को मिलाकर बनाया जाता है। इसे धीरे-धीरे पकाने से इसकी गूँथा-फिटकारी और मजेदार महक आती है। यह खिचड़ी स्वास्थ्यवर्धक भी होती है और पोषण से भरपूर होती है।

खिचड़ी के बारे में:

  • खिचड़ी एक पौष्टिक भारतीय व्यंजन है जो अनाज, दाल, और मसालों के मिश्रण से बनाया जाता है। इसे अक्सर बिमारी के समय और व्रतों में खाया जाता है। खिचड़ी में फाइबर, प्रोटीन, और विटामिन्स होते हैं, जो हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं।

साबूदाना खिचड़ी रेसिपी:

सामग्री:

  • साबूदाना: 1 कप
  • आलू: 2 मध्यम आकार के, कटा हुआ
  • मूंगफली के दाने: 2 टेबल स्पून
  • अदरक: 1 छोटा टुकड़ा, कटा हुआ
  • हरी मिर्च: 1, कटी हुई
  • लहसुन: 1 कली, कटी हुई
  • नमक: स्वादानुसार
  • तेल: 2 टेबल स्पून
  • जीरा: 1 छोटी चम्मच
  • हींग: 1/4 छोटी चम्मच
  • कटा हुआ हरा धनिया: 2 टेबल स्पून

विधि:

  • साबूदाना को पानी में 1 घंटे के लिए भिगो दें।
  • एक कड़ाही में तेल गरम करें और उसमें जीरा, हींग, अदरक, लहसुन, और हरी मिर्च डालें।
  • अब उसमें कटा हुआ आलू डालें और उसे भूनें जब तक आलू गोल्डन ब्राउन नहीं हो जाते।
  • अब उसमें भिगोकर रखा हुआ साबूदाना, मूंगफली के दाने, और नमक डालें।
  • साबूदाना अच्छे से पक जाने तक पकाएं।
  • अखिर में कटा हुआ हरा धनिया डालें और मिक्स करें।
  • साबूदाना खिचड़ी तैयार है।

उपयुक्त टिप्स:

  • साबूदाना को धोने के बाद अच्छे से उसका पानी निकाल लें।
  • खिचड़ी को पकाने के दौरान हल्की आंच पर पकाएं।

Frequency Asked Questions (FAQ):

Q1: साबूदाना खिचड़ी क्या है?

A1: साबूदाना खिचड़ी एक प्रमुख भारतीय व्यंजन है जो साबूदाना, आलू, और मसालों से बनाया जाता है। यह उपवास या व्रत के दौरान खाया जाता है और यह स्वादिष्ट और पौष्टिक होता है।

Q2: साबूदाना खिचड़ी के कितने प्रकार होते हैं?

A2: साबूदाना खिचड़ी कई प्रकार की होती है, जैसे कि मसालेदार, सादा, और नमकीन स्वाद।

Q3: साबूदाना खिचड़ी के साथ क्या सर्विंग करना चाहिए?

A3: साबूदाना खिचड़ी के साथ नींबू का अचार या दही सर्विंग कर सकते हैं। किसी को भी स्वादिष्ट और पौष्टिक व्यंजन के साथ खाने के लिए साबूदाना खिचड़ी अच्छा लगता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *